लालू का भड़कना

लो भाई,
अपने लालू प्रसाद यादव, बमक गये है, बहुत लाल पीले हो रहे है…..इस बार कांग्रेस पर. क्यों?
अरे भाई कांग्रेस और झामुमो ने झारखन्ड की सारी सीटे आपस मे बाँट ली है, बाकी बची तेरह सीटे ही छोड़ी है लालू की राजद और वामपंथियों के लिये. अब लालू और वामपन्थी लामबन्द हो गये है और कांग्रेस पर दबाव बना रहे है.

हमने अपने राजनीतिक विशेषज्ञ मिर्जा साहब से इस बारे मे टिप्पणी चाही….मिर्जा बोले… “कुछ होने हवाने वाला नही है, लालू खांमखा ही बमक रहे है, एक दो दिन मे सब ठीक हो जायेगा…दरअसल सारी कसरत, बिहार की सीटो के बँटवारे पर बढत लेने के लिये है. लालू बहुत पुराने खिलाड़ी है, और जानते है कि झारखन्ड मे राजद की क्या स्थिति है, फिर भी खांमखा की पेलम पेल कर रहे है.झगड़ा शुरू उन्होने किया है, फिर भी एक कोना छोड़ दिया है सोनिया गाँधी से मुलाकात करने का, वहाँ पर जाकर ठन्डे पड़ जायेंगे….अभी लालू चाहे जो कुछ भी कहें लेकिन स्थितिया उनको पंगा लेने की इजाजत नही देती….क्योंकि वे जानते है कि अगर कांग्रेस, रामबिलास पासवान से हाथ मिलाती है तो जनता दल यू को भाजपा को बाय बाय करने मे देर नही लगेगी. जहाँ ये सब एकजुट हुए नही, तो लालू की गाड़ी पटरी से उतर जायेगी, बिहार तो हाथ से पक्का निकल जायेगा.बस हाथ मे रेल मन्त्रालय का झुनझुना लेकर बजाते रह जायेंगे.”

One Response to “लालू का भड़कना”

  1. लीजिये मान गये न लालू, इ बमकी उमकी सब त खासियत है लालू का……देखिये अब बिहार में कइसे झुनझुना धराते हैं कांग्रेस को…सब मामिला फिटमफिट