छुट्टियां कहाँ बिताएं?

अभी दिसम्बर में ही भारत से लौटा था, लेकिन फिर से प्रोग्राम बन रहा है, इस बार जून-जुलाई के महीने में। सोच रहा हूँ इस बार फ़ैमली को दक्षिण भारत की यात्रा करा दूं, लेकिन अभी कुछ भी डिसाइडेड नही है, मेरे पास तीन आप्शन है:

  • दक्षिण भारत (15 दिन)
  • सुदूर पूर्व (7 दिन) : सिंगापुर,थाईलैन्ड और मलेशिया
  • श्रीलंका (7 दिन)

श्रीलंका तो दौड़ से बाहर हो गया है, लिट्टे और श्रीलंका सरकार की वजह से, बचा साउथ इन्डिया या सिंगापुर वगैरहा।अब मै ठहरा इन्टरनैट प्राणी, इसलिए सब कुछ अपने ब्लॉग पर लिख देता हूँ, सुझाव भी बहुत अच्छे आते है।आप लोग कुछ सुझा सकते है क्या? वैसे फ़ैमली की इच्छा दक्षिण भारत देखने की है, इसलिये मैने कुछ सूची बनाई है :

  1. कोचीन
  2. मुन्नार
  3. त्रिवेन्द्रम
  4. कोवलम
  5. कन्या कुमारी
  6. मदुरैई
  7. कोडाइकनाल
  8. ऊटी
  9. मैसूर
  10. बैंगलौर

आप लोगों की सहायता चाहिए, मेरे पास कुछ 15 दिन है, और मुझे वापस भोपाल पहुँचना है।तो शुरु हो जाइये, सहायता करने के लिये।सहायता और सुझाव के लिये एडवान्स मे ही ही धन्यवाद।

13 Responses to “छुट्टियां कहाँ बिताएं?”

  1. 1. मुन्नार 2. कोवलम 3. कन्या कुमारी 4. कोडाइकनाल 5. ऊटी 6. मैसूर

    These will be the places i would go to in that order. Check the weather out though.

  2. जीतू भाई,
    सब जगह घूम कर जब वापस भोपाल आना, तो मै पूरी जुलाई जबलपुर मे हूँ, मुझे इ मेल करो, जबलपुर जरुर मेरे पास आना.बहुत सुंदर जगह है और आप मेरे मेहमान होगे मेरे घर पर.
    मेरा इमेल sameer dot lal at gmail dot com…….

    मै आपको अपना फ़ोन दे दूँगा………..और मेरा सौभाग्य होगा.

    समीर लाल

  3. दक्षिण भारत घूमो तो एक गाड़ी ले लो। पूरा इलाका देखो तब मजा आयेगा। शहर-शहर उचक-उचक के देखने में वो मजा कहां जो सड़क नापते हुये घूमने में है!

  4. काली भाई, आपके सुझाव को ध्यान मे रखेंगे।
    समीर भाई, निमन्त्रण का शुक्रिया, आपको इमेल से जवाब भेज दिया है।
    अनूप भाई, मेरा भी आइडिया यही है, लेकिन परेशानी ये है, जून का महीना, बरसात का महीना है, इसलिये सड़क यात्रा मे काफी परेशानियां आ सकती है। फिर सफ़र कोचीन से शुरु हो रहा है और अन्त बैंगलौर मे हो रहा है, उससे भी दिक्कत आ सकती है, फिर भी देखेंगे।

  5. जीतू भैया,

    सबसे पहले तो आपके लिए बंगलौर में सुस्वागतम् का बैनर मैं तैयार कर रहा हूँ ।

    मैं काफी खुश होऊंगा आपलोगों से मिलकर । अब यहाँ से आप मन माफिक, जहाँ मन वहाँ घुमक्करड़ी करते रहो । मैसुर – ऊटी तो बिंदास है भई । मेरा संपर्क पता आप तक पहूँच जाएगा ।

    एक बात और, बंगलौर के हिन्दी ब्लागरों की भी एक छोटी गोष्ठी हो जाए तो कैसा रहेगा , अगर बंगलौर से हमारे जैसे और भी हिन्दी ब्लागर होगे ही ।

    आपका,
    प्रेम पीयूष ।

  6. jitu bhaai umas bhara mausam hago. yah bhi dhyaan rakhen

  7. राजीव on मई 1st, 2006 at 9:34 pm

    जीतू जी,

    वैसे तो मेरा कोई व्यक्तिगत अनुभव नहीं है दक्षिण भारत के भ्रमण का, परंतु मेरे एक चेन्नई निवासी कनपुरिया मित्र ने हाल ही में सड़्क मार्ग द्वारा दक्षिण भारत का 10-12 दिन का पर्यटन-भ्रमण किया था सो यदि आप चाहें तो मैं उनका ई-मेल आपको प्रेषित कर सकता हूं और वे अपने व्यक्तिगत हालिया अनुभवों और यात्रा-सारिणी से आपको परिचित करा सकेंगे। और हां, वे ई-मेल के मामले में बहुत आलसी जीव हैं।

    इस सन्दर्भ में मेरा एक व्यक्तिगत, अनुभव यह है कि कम समय में बहुत स्थलों में जाने की अपेक्षा कुछ ही स्थलों एवं उसके आस-पास का लेना अधिक आनन्ददायी होता है । सीमित समय में कई स्थलों का भ्रमण कुछ-कुछ डाकिये जैसा और औपचरिकता को निभाने जैसा प्रतीत होता है। यही नही, समय के हिसाब से आपकी सूची काफी लम्बी प्रतीत होती है। लगभग इस मसले पर मैं अनूप जी की राय से शत-प्रतिशत सहमत हूं।

    रही मौसम की बात, तो आपका चुना हुआ समय इस दृष्टिकोण से भारत के कई क्षेत्रों के लिये वास्तव में कुछ अनिश्चितता भरा होगा ।

    आपके ब्लॉग पर मैंने पाया कि पिछ्ले वर्ष ही आपने उत्तरांचल की यात्रा की है, परंतु मुझे पूर्ण विश्वास है कि अभी उस नैसर्गिक क्षेत्र के कई सुरम्य अंचल आपके लिये अभी भी नये होंगे। यदि इस ओर विचार बने तो अवश्य बतायें। आशा है कि आपको कुछ रमणीक स्थलों की जानकारी दे सकूंगा, वहां के मौसम के लिये भी अधिक से अधिक जून का महीना ही ठीक होगा!

  8. केरल बेहद सुन्दर है ,कोचीन में lake पर boating ज़रूर करें ,कोचीन से कन्या कुमारी तक सड़क का रास्ता heavenly है,जून में मौसम अच्छा होगा,indian airlines के package tours ले सकते है बाहर रहने वालों के लिए singapore बेकार है,बंगलौर,मैसूर आदि अच्छे है पर जून में नहीं । कोवलम में बीच रफ़ होगा ।

  9. दर्पण मे कमेंट कैसे दुँ

  10. भैया
    दक्षिण भारत जरूर आओ लेकिन जुन जुलाई मे नही ! वर्ना भाभी बोलेंगी इतनी गर्मी मे घुमाना था तो कुवैत क्या बुरा था !

    मै ये मद्रास उर्फ चेन्नई मे बैठ कर टाईप कर रहा हूं।

  11. वैसे आने की सोच ही ली है तो मद्रास जरूर आयें, हम है ही स्वागत के लिये !
    साथ मे महाबलीपुरम और पांडीचेरी मे घुमा लायेंगे.

    पांडीचेरी मे दारू खुब सस्ती मिलती है.

  12. जीतू साहिब,

    आप शिमला, हिमाचल परादेश, sorry, could not type more in devnagri. I will suggest you to go to Shimla Hills in Himachal Pradesh and enjoy the summer. This place use to be the summer capital of British. Weather is great, lots of walking and great food. Stay at Palace Hotel owned by the great Ashok Goyal, eat in Loveena on Ridge, owned by Mr. Tarlochan Singh and enjoy shopping in Lakkar Bazar at Hardyal and Balwant Singhs shops.

    Kikka

  13. सुरेन्द्र भैया, धन्यवाद आपकी टिप्पणी का।अपना भी फोन नम्बर और कम्पनी का नाम भी लिख देते ना। पूरा पूरा विज्ञापन हो जाता।अब क्या है कि आधे अधूरे पते से लोग कैसे पहुँचेंगे आप तक।

    आपकी टिप्पणी पढकर मजा बहुत आया।दूसरों के ब्लॉग पर टिप्पणी करने के बहुत सारे रास्ते खुल गये। अच्छा लगा, लगे रहो। अपने ब्लॉग का पता जरुर देना।शिमला आ सके या ना सके, मगर आपके ब्लॉग पर टिप्पणी करने जरुर आयेंगे।