उभरती पॉप सिंगर : सोना

अभी तक हम उभरते हुए हिन्दी चिट्ठाकार प्रतियोगिता मे बिजी थे, अब जब उससे निबटे तो भई थोड़ा मनोरंजन तो होना ही चाहिए ना। तो आइए बात करते है, उभरती पॉप गायिका की। अभी कुछ दिनो पहले एक पॉप एलबम सुनने को मिला। एक नयी गायिका है सोना महापात्र। वैसे तो मुझे नए गायक काफ़ी शोर शराबे वाले लगते है। सुर और राग की अच्छी पकड़ सोना को दूसरों से अलग करती है। सोना नए गायिकाए मे सबसे प्रतिभाशाली दिखती है इसकी आवाज मे कुछ हटकर है। सोना की आवाज मे कुछ कशिश है, उसकी आवाज हर रंग मे अच्छी लगती है। सोना के इस नए एलबम सोना मे कुछ मिलाकर आठ गीत है, सभी गीत काफ़ी अच्छे बन पड़े है।


sona

बी.टेक करने के बाद सोना एक बहुराष्ट्रीय कम्पनी मे ब्रांड मैनेजर थी। लेकिन संगीत की साधना के लिए सोना ने नौकरी को तिलांजिली देना बेहतर समझा । सोना के के नए एलबम मे जो गीत मुझे सबसे अच्छा लगा, वो है बोलो ना । जो काफ़ी रेडियो चैनलो पर सुना जा सकता है। एक और गीत है आजा वे, ये भी काफी अच्छा बन पड़ा है। सभी गीतो मे गिटार का भरपूर प्रयोग हुआ है। सोना का गृहप्रदेश वैसे तो उड़ीसा है लेकिन मुझे इसकी आवाज मे राजस्थानी टच ज्यादा दिखता है। तो जनाब अब ज्यादा बाते ना करते हुए, सीधे सीधे आपको लिंक देता हूँ, ताकि आप भी सुने।

सोना के बारे मे ज्यादा जानकारी यहाँ देखें।
सोना के सारे गीत यहाँ सुने जा सकते है।

आप इन्हे भी पसंद करेंगे

One Response to “उभरती पॉप सिंगर : सोना”

  1. सही कह रहे हैं कुछ कुछ राजस्थानी टच है. लोकगीतों के लिये और गजल टाइप एलबम के लिये आवाज अच्छी है. जानकारी देने के लिये शुक्रिया.