सावधान: अपना हाथ बचाकर रखें

जी हाँ, सभी चिट्ठाकारों से निवेदन है कि अपना हाथ और अंगुलियां बचाकर रखे।
लेकिन भाई खतरा किस से है?
अपनी पत्नियों से। और नही तो क्या।

जी हाँ आप सभी चिट्ठाकारों से निवेदन है कि अव्वल तो अपने हाथ और उसकी प्रत्येक अंगुली का बीमा करा लें। उसके बाद जब भी आपकी पत्नी, आपको बोले कि ब्लॉगिंग बन्द तो ब्लॉगिंग तुरन्त बन्द करिए। नही तो ऐसा ना कि इन जनाब की तरह आपको बाद मे पछताना पड़े।

किस्सा कुछ इस प्रकार है कि चीन मे एक जनाब इन्टरनैट के लती थे, अक्सर अपनी नैट सहेलियों से चैट किया करते थे (शुकुल सम्भल जाओ अब।) सोते जागते, उठते बैठते बस इन्टरनैट ही इन्टरनैट। उनकी पत्नी, इनकी इस आदत से बहुत परेशान थी। वो करे भी तो क्या करें। घर पर इन्टरनैट देखना बन्द किया गया तो ये जनाब इन्टरनैट कैफ़े मे जाकर फिर वही चैट पर लड़कियों से बातचीत शुरु कर दिए। पत्नी ने इन महोदय का पीछा किया और इन्हे इन्टरनैट कैफ़े मे रंगे हाथो (चैट करते हुए यार!, चीन है, इन्डिया थोड़े ही है, जो कैफ़े के अनेक इस्तेमाल होंगे) पकड़ लिया। बस जी फिर क्या था पत्नी ने कैफे में ही उसका हाथ काटा डाला। ना रहेगा बांस और ना बजेगी बांसुरी। है ना। पूरा समाचार यहाँ पर पढ लीजिए।

अब आप लोग भी ध्यान रखिएगा, कंही ऐसा ना हो, आपके हाथ को भी……

चलते चलते :भाभीजी द्वारा शुकुल का घर का इन्टरनैट (दो दिन के लिए ही सही) बन्द किया जा चुका है, अब भी अगर ये ना सुधरे तो अगले चरण मे ………..(समझ गए ना)

आप इन्हे भी पसंद करेंगे

7 Responses to “सावधान: अपना हाथ बचाकर रखें”

  1. दिख तो रहा है आज चैट पर से जल्दी भाग गये थे..हम तो समझते थे कि हम लोगो से ही चैट करने आते है ,..ये लडकियो वाला मामला क्या है जी ..विस्तृत विवरण दे..वरना हम भाभी को आपके बारे मे तफसील से मेल करेगे..पहला नंबर आपका ही ना आ जाये..सावधान..पंगे ना ले..:)

  2. राम, राम. ऐसे आदमी हैं – अन्दाज ही न था.
    खैर आदमी ही हैं. शायद सम्भल गये हों! 🙂

  3. शुकुल जी इस उम्र में भी नहीं मान रहे, c u cool जैसों के रहते हमारे जैसों का क्या होगा। 🙂

  4. अफ़वाहें फ़ैलाने वाले देश के दुश्मन हैं। वैसे हम चूंकि मठाधीश भी बताये जा चुके हैं एकाध बार तो हम कहेंगे जीतेंद्र हमारा दाहिना हाथ है। 🙂

  5. चैटिंग वगैरह बंद करो और थोड़ा टिपियाने में मन लगाओ.

    काहे प्रिय सुकुल जी को लपेट रहे हैं? सीधे साधे तो हैं बेचारे. 🙂

  6. बहुत गलत बात है आपके इस लेख से ब्लॉगर लोग हमारे कॉफे से आने में कतरायेंगे। क्या मिलेगा इस तरह लोगों को भड़काकर हमारे धंधे को चौपट करने में आपको???

    🙂 🙂

  7. ये तो दुःखद ख़बर है