मनपसन्द ब्लॉग को सुनें

हर सवेरे घर से आफिस की ड्राइव बहुत पकाऊ होती है। ऊपर से ट्रैफ़िक का झमेला, इस झमेले से बचने के लिए मै बीच रोड(लम्बा रुट) होते हुए अपने ऑफिस को जाता हूँ। अब क्या होता है ऑफिस पहुँचकर सबसे पहला काम होता है, अपनी इमेल चैक करना और अपने मनपसन्द ब्लॉग्स को पढना। लेकिन कभी कभी लगता था, कि क्यों ना कोई इन्हे पढकर सुनाए वो भी तब जब मै ड्राइव कर रहा हूँ। कम्पयूटर की दुनिया भी अलादीन के चिराग की तरह से है, आप इधर इच्छा करो, उधर आपकी इच्छा पूर्ति का इंतजाम हो जाता है। अब एक नही, दो दो वैब सर्विस है वो भी फ्री, जो आपको आपके मनपसंद ब्लॉग पढकर सुनाएंगे। आप अपने मोबाइल/आईपॉड को अपने कार के म्यूजिक सिस्टम से ट्यून कर दो,और सुनो, जी भर के। आफिस के रास्ते का ऊबाऊपन भी कट गया और ऑफिस पहुँचकर चाय की चुस्कियों के साथ बस अपनी इमेल चैक करिए।

blogbard
पहली सर्विस है ब्लॉगबार्ड(BlogBard), इस सर्विस द्वारा आप अपने रोजाना के ब्लॉग सुन सकते है। आवाज की क्वालिटी भी काफी अच्छी है। सबसे अच्छी चीज तो ये है कि आप अपने फीड रीडर्स जैसे गूगल रीडर्स और ब्लॉगलाइन्स के एकाउन्ट पर सबस्क्राइब किए हुए ब्लॉग वहाँ पर सुन सकते है। लेकिन सुविधा सिर्फ़ इतनी ही नही, आप अपने ब्लॉग पर इनके द्वारा प्रदान किया गया बटन दे सकते है। जिससे लोग आपके ब्लॉग को सुन सकें। लेकिन ठहरिए जनाब जल्दबाजी मत करिए, अभी यह सेवा सिर्फ़ अंग्रेजी के ब्लॉग्स के लिए है। चूंकि ये नयी कम्पनी भारत से है, इसलिए हिन्दी ब्लॉग्स और बाकी भाषाओं के ब्लॉग्स के लिए भी ये लोग जल्द ही सोचेंगे। लेकिन कहते है हम भारतीय जुगाड़ू होते है, इसलिए एक जुगाड़ तो ये है कि आप अपने बोमियो वाले अंग्रेजी ट्रांसलिटरेटेड ब्लॉग को इधर सुना सकते है। लेकिन आजकल भोमियो को क्या हो गया है, लगता ये भाई अपनी दुकान बढा गए।

odiogo
दूसरी सर्विस है ओडियो-गो, इस सर्विस द्वारा भी वही सब किया जा सकता है ब्लॉगबार्ड से कर सकते है। इस साइट ने इन्टीग्रेशन मे काफी अच्छा काम किया है, ब्लॉगर और वर्डप्रेस के ब्लॉगर इसके द्वारा सिर्फ़ एक बटन के जरिए अपने ब्लॉग को सुना सकते है। जरुरी सवाल जवाब का लिंक इधर है। यह सेवा भी अंग्रेजी ब्लॉग्स पर सही काम करती है, हिन्दी ब्लॉग्स पर ये काम नही करती। दोनो सेवाएं फ्री है और अंग्रेजी ब्लॉग्स पर एकदम सही काम करती है।

हम हिन्दी चिट्ठाकारों को उम्मीद है आज नही तो कल, एक ऐसी सेवा जरुर आएगी जो हमारे ब्लॉग्स को पढकर सुनाएगी।

Technorati Tags: , , , , , , , , , , ,

आप इन्हे भी पसंद करेंगे

12 Responses to “मनपसन्द ब्लॉग को सुनें”

  1. चलो, उम्मीद हम भी जगाये लेते हैं. ऐसे तो पढ़ते नहीं हो कम से कम तब सुन लोगे, ऐसी आशा है. 🙂

  2. आपने ये दोनों काम की लिंक बताई। धन्यवाद!!

    मुझे रोज २।५ घंटे ड्राइव कर के बिताने होते है जिसमें पोडकास्ट और रेडियो बहुत काम आते है।

    उम्मीद है कि ये सेवायें हिन्दी ब्लाग के लिये भी जल्द मिलेंगी।

  3. अच्छी सूचना है।

  4. क्या जबरदस्त चीज लाये हो उस्ताद लेकिन खुद पढ़ने का जो मजा है वो सुनने में कितना आयेगा ये कह नही सकते। दूसरा अगर सब लोग सुनने लगे तो टिप्पणी कौन करेगा शायद ऐसी ही कोई सर्विस टिप्पणी बोलने के लिये भी आ जाये। 😉

  5. चीज काम की है.

  6. हिन्दी ब्लॉगों को भी सुना जा सकता है.परंतु थोड़ी मशक्कत करनी होगी. टीडीआईएल साइट से वाचक प्रोग्राम डाउनलोड करें और संस्थापित करें. फिर किसी भी हिन्दी पाठ को कॉपी कर लें. वाचक प्रोग्राम हिन्दी पाठ को सुनाएगा. चाहें तो इसे ऑउडासिटी जैसे प्रोग्रामों से रेकॉर्ड कर लें और फिर एमपी3 प्लेयर से सुनें. यदि आपके पास एमएस वर्ड है तो यह कृतिदेव, मंगल, इस्की इत्यादि फ़ॉन्टों के पाठ भी वर्ड के भीतर से ही हिन्दी में पढ़कर सुनाता है.

  7. ’वाचक’ मै दो साल से प्रयोग कर रहा हूँ, कभी कभी वर्ड पर हिन्दी टेक्स्ट पेस्ट करके उसको पढ़्ने को बोल देता हूँ, सुनने मे बहुत मज़ा आता है उसकी पढ्ने की गति को भी कन्ट्रोल कर सकते हैं।

  8. वाह ये तो कमाल की चीज है।

    और उम्मीद पर दुनिया कायम है।

  9. अब हमें भी इसके हिन्दी में आने का इंतजार रहेगा। जानकारी के लिए शुक्रिया

  10. आपने बहुत अच्छी जानकारी दी है। जानकारी के लिए शुक्रिया।

  11. आपकी जानकारी लाजबाव है. इस आन्दोलन में.मुझे भी शामिल करें.

  12. बहुत acha laga