चुनाव और नेताओं की आत्मा की आवाज

Tweet बहुत दिनों बाद आपसे मुखातिब हुआ हूँ, क्या करें मुआ ट्विटर और फेसबुक जान छोड़े तब ना। आज भी ये वाली पोस्ट मोबाइल से ही लिख रहा हूँ, लैपटॉप खोले तो जमाना हो गया। तो भैया, हम बात कर रहे हैं नेताओं की अंतरात्मा की, मिर्जा पीछे से बड़बड़ा रहे हैं ‘जो चीज होती […]

जनादेश 2009 : समीक्षा

चुनावों मे भारतीय जनता ने अपना जनादेश दे दिया है। कुल 543 सीटों मे से कांग्रेस का यूपीए गठबंधन 260+ सीटें लेकर सबसे बड़े गठबंधन के रुप मे उभरा है। दूसरी तरफ़ भाजपा का एनडीए गठबंधन कुल 158 सीटें पाकर दूसरे नम्बर पर रहा। तो आखिरकार इस मुद्दाविहीन चुनाव में कांग्रेस की इस अप्रत्याशित सफलता का राज क्या था? आइए इस जनादेश के कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओ को समझें:

सत्ता समीकरण : पाला बदल खिलाड़ी

Tweet सभी लोगों ने चैन की सांस ली है कि चुनावों का शोर कुछ थम गया है। १३ मई को आखिरी मतदान होने के साथ ही, सबकुछ सामान्य सा दिखने लगा। हमे याद आ रहा है कि कानपुर मे एक प्रत्याशी हुआ करते थे (थे नही है भाई) भगवती प्रसाद दीक्षित। लोग इनको घोड़ेवाला दीक्षित […]

यूपीए जीती लेकिन लोकतंत्र हारा

Tweet कल संसद मे पेश किए गए, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा पेश किए विश्वास प्रस्ताव मे सत्ताधारी यूपीए सरकार की जीत हुई। उसके पक्ष मे 275 वोट पड़े और विपक्ष मे 256 वोट पड़े। इस तरह 19 वोटों से यूपीए की जीत हुई।इसके पहले सदन मे हुई बहस मे कल स्टार स्पीकर रहे लालू प्रसाद […]

जरा देखना तो, 272 हुए क्या?

Tweet आज यूपीए और विपक्षी पार्टियों की हालत कुछ इस कदर हो गयी है, उठते बैठते लोग एक दूसरे से यही सवाल पूछते है जरा देखना तो, 272 सांसद हुए क्या? अब क्या करें भई, ये 272 का आंकड़ा है ही इत्ता मुश्किल। चार को साधो तो दो और उखड़ जाते है, तीन को पकड़कर […]

राजनीति के हमाम मे सब नंगे

Tweet केंद्र की कांग्रेस सरकार ने अमरीका के साथ परमाणु करार की तरफ कदम क्या बढाए, वामपंथी भड़क उठे और धमकियां देने के बाद आखिरकार समर्थन वापस ले ही लिया। इस तरह से वामपंथी बैसाखियों के सहारे टिकी सरकार अल्पमत मे आ गयी। लेकिन बात सिर्फ़ यहाँ तक समाप्त नही होती। कांग्रेस ने जवाबी फायरिंग […]